ताजा खबर
Petrol Diesel Price Today: पेट्रोल-डीजल की कीमत जारी, जानें ईंधन के रेट   ||    Ixigo IPO की दमदार लिस्टिंग, निवेशकों की हुई मौज, सेंसेक्स ने भी लगाई ऊंची छलांग   ||    हम 7 लाख महीना कमा, 3 लाख बचा लेते हैं, बाकी कहां खर्चें? कपल की पोस्ट पर सजेशंस की बाढ़   ||    भारत-पाकिस्तान और चीन…किसके पास किससे ज्यादा परमाणु हथियार? SIPRI की रिपोर्ट में खुलासा   ||    लॉस एंजिल्स के जंगल में लगी आग के कारण 1,200 से अधिक निवासियों को निकाला गया   ||    ऑस्ट्रेलिया जा रहे विमान के इंजन में आग लगी, न्यूज़ीलैंड में आपातकालीन लैंडिंग कराई गई   ||    भारत ने परमाणु हथियारों के मामले में पाकिस्तान को पीछे छोड़ दिया, जबकि चीन ने शस्त्रागार का विस्तार ...   ||    अमेरिकी किशोर ने माता-पिता की हत्या की, अधिकारी को गोली मारी; गोलीबारी की तस्वीरें बॉडीकैम पर कैद   ||    लॉकी फर्ग्यूसन की उल्लेखनीय उपलब्धि: अविश्वसनीय प्रदर्शन करते हुए चार मेडन बॉल डाले   ||    गौतम गंभीर भारत के मुख्य कोच के लिए एकमात्र आवेदक, साक्षात्कार आज निर्धारित: रिपोर्ट   ||   

इस मंदिर में रात को रुकने वाले श्रद्धालु बन जाते हैं पत्थर! जानिए पूरी कहानी

Photo Source :

Posted On:Thursday, June 1, 2023

देश में कई रहस्यमयी मंदिर हैं, उनमें से एक है राजस्थान का किराडू मंदिर। इस मंदिर के बारे में कहा जाता है कि शाम होते ही यहां रहने वाले पत्थर के हो जाते हैं। कहा जाता है कि 1161 ईसा पूर्व में इस स्थान का नाम 'किरात कूप' था। राजस्थान में होते हुए भी इस मंदिर को दक्षिण भारतीय शैली में बनाया गया है। इस मंदिर को लोग राजस्थान का खजुराहो भी कहते हैं। यह 5 मंदिरों की श्रंखला है। इस श्रृंखला के अधिकांश मंदिर अब खंडहर में तब्दील हो चुके हैं। जबकि शिव मंदिर और विष्णु मंदिर (किराडू मंदिर) की स्थिति ठीक है। इस मंदिर का निर्माण किसने करवाया था? इसके बारे में अधिक जानकारी उपलब्ध नहीं है। हालांकि मंदिर निर्माण को लेकर लोगों की अपनी मान्यताएं हैं।कहा जाता है कि एक बार इस मंदिर (किराडू मंदिर) में एक ऐसी घटना घटी थी, जिसका डर आज भी लोगों में मौजूद है
राजस्थान के इस रहस्यमयी मंदिर में रात में रुकना खतरनाक, पत्थर बन जाते हैं  भक्त ! | Kiradu temple of Rajasthan where people do not stay at night -  Hindi Oneindia
कहा जाता है कि कई साल पहले एक सिद्ध साधु अपने शिष्यों के साथ इस स्थान पर आए थे। एक दिन साधु अपने शिष्यों को छोड़कर कहीं घूमने चला गया। उसी समय उनके एक शिष्य की तबीयत बिगड़ गई। यह देख बाकी शिष्यों ने स्थानीय लोगों से मदद मांगी, लेकिन किसी ने उनकी मदद नहीं की। बाद में जब साधु अपने आश्रम लौटा तो उसे इस घटना के बारे में पता चला। इससे वह क्रोधित हो गया और सभी ग्रामीणों को श्राप दे दिया कि सूर्यास्त के बाद सभी ग्रामीण पत्थर में बदल जाएंगे।हालांकि स्थानीय लोगों के मुताबिक बीमार शिष्य की मदद गांव की एक महिला ने की थी. इस कारण श्राप देने से पहले संत ने कहा कि वह सूर्यास्त से पहले गांव छोड़ दें और पीछे मुड़कर न देखें। हालांकि उस महिला ने इस साधु को गंभीरता से नहीं लिया और पीछे मुड़कर देखा। इस कारण वह भी पत्थर की हो गई। इस वजह से मंदिर से कुछ दूरी पर उस महिला की मूर्ति बनाई गई है। यह एक प्रमुख कारण है कि सूर्यास्त के बाद कोई भी मंदिर के पास नहीं जाता है।


लखनऊ और देश, दुनियाँ की ताजा ख़बरे हमारे Facebook पर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें,
और Telegram चैनल पर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें



You may also like !

मेरा गाँव मेरा देश

अगर आप एक जागृत नागरिक है और अपने आसपास की घटनाओं या अपने क्षेत्र की समस्याओं को हमारे साथ साझा कर अपने गाँव, शहर और देश को और बेहतर बनाना चाहते हैं तो जुड़िए हमसे अपनी रिपोर्ट के जरिए. Lucknowvocalsteam@gmail.com

Follow us on

Copyright © 2021  |  All Rights Reserved.

Powered By Newsify Network Pvt. Ltd.